Articles by "देवझिरी जैन तीर्थ"

#Measles-Rubella 15 अगस्त 26 january 26 जनवरी abvp Administrative Admission-Alert b4 cinema balaji dhaam bhagoria bhagoria festival jhabua bjp cbse result cinema hall jhabua city crime cultural education election Epaper events Exclusive Famous Place Gallery gopal mandir jhabua Health and Medical jhabua jhabua crime Jhabua History Jobs Kadaknath matangi Meghnagar MISSING- ALERT Movie Review MPEB MPPSC National Body Building Championship India New Year NSUI petlawad politics post office ram sharnam jhabua Ranapur religious religious place Road Accident rotary club sd academy social sports thandla tourist place Video Visiting Place Women Jhabua अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अखिल भारतीय साहित्य परिषद अंगूरी बनी अंगारा अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस अपराध अरोडा समाज अल्प विराम कार्यक्रम अवैध रेत अवैध शराब अंहिसा दिवस आई.टी.आई आईसेक्ट आंगनवाड़ी आचार संहिता आजाद जयंती आदित्य पंचोली आदिवासी गुड़िया आनंद उत्सव आपकी सरकार आपके द्वार आबकारी विभाग आयुष्मान भारत योजना आरटीओं आर्ट आॅफ लिविंग शिविर आर्मी भर्ती आलेख आवंला नवमी आंवला नवमी आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक इनरव्हील क्लब ईद उत्कृष्ट सड़क उपचुनाव उमापति महादेव उर्स ऋषभदेव बावन जिनालय एकात्म यात्रा एजुकेट गर्ल्स एनएसयूआई एमपी पीएससी एसडीओपी सोनू डावर कड़कनाथ मुर्गा कन्या भोज कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ कलाल समाज कलावती भूरिया कलेक्टर कलेक्टर कार्यालय कल्लाजी महाराज कवि सम्मेलन कांग्रेस कांतिलाल भूरिया कार्तिक पूर्णिमा कालिका माता मंदिर कालीदेवी कावड़ यात्रा काव्य संध्या किन्नर सम्मेलन कृषि कृषि महोत्सव कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ केरोसीन कैथोलिक डायसिस झाबुआ कोट्पा एक्ट कोरोना वायरस क्रिकेट टूर्नामेंट क्रिसमम क्षत्रिय महासभा खबरे अब तक खाद्य एवं औषधि विभाग खेडापति हनुमान मंदिर खेल गडवाड़ा गणगौर पर्व गणतंत्र दिवस गणेशोत्सव गर्मी गल पर्व गांधी जयंती गायत्री शक्तिपीठ गुड़िया कला झाबुआ गुड़ी पड़वा गुरू पूर्णिमा गेल झाबुआ गोपाल पुरस्कार गोपाल मंदिर झाबुआ गोपाष्टमी गोपेश्वर महादेव गोवर्धननाथ मंदिर गौशाला ग्रामीण बैंक घटनाए चक्काजाम चर्च चुनाव जन आशीर्वाद यात्रा जनपद जनसुनवाई जन्माष्टमी जय आदिवासी युवा संगठन जय बजरंग व्यायाम शाला जयस जवाहर नवोदय विद्यालय जिला चिकित्सालय जिला जेल जिला न्यायालय जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ जिला सहकारी बैंक जीवन ज्योति हॉस्पिटल जैन मुनि जैन सोश्यल गुुप ज्योतिष परामर्श शिविर झकनावदा झाबुआ झाबुआ इतिहास झाबुआ का राजा झाबुआ पर्व झाबुआ पुलिस झाबुआ रियासत झाबूआ झूलेलाल जयंती टंट्या भील डाकघर डीआरपी लाईन तुलसी विवाह तेली समाज थांदला दशहरा दस्तक अभियान दिल से कार्यक्रम दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि दीपावली देवझिरी देवझिरी जैन तीर्थ धरना प्रदर्शन धारा 144 धार्मिक धार्मिक स्थल नक्षत्र वाटिका नगर परिषद नगरपालिका परिषद झाबुआ नरेंद्र मोदी नवरात्री नवरात्री चल समारोह नागरिकता संशोधन नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर निर्मला भूरिया निर्वाचन आयोग नेहरू युवा केन्द्र पटवारी संघ पथ संचलन परिवहन विभाग परीक्षा परीणाम पर्यटन स्थल पल्स पोलियो अभियान पाक्सो एक्ट पारा पावर लिफ्टिंग पिटोल पीएचई विभाग पुण्यतिथि पेटलावद पेंशनर एसोसिएशन पैलेस गार्डन पोलीटेक्निक काॅलेज प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय प्रतिभा सम्मान सम्मारोह प्रतियोगी परीक्षा प्रधानमंत्री आवास योजना प्रशासनिक फिट इण्डिया फुटतालाब फेंसी ड्रेस फ्लैग मार्च बजरंग दल बस स्टैंड बहादुर सागर तालाब बामनिया बारिश बाल कल्याण समिति बालिका सशक्तिकरण अभियान बिरसा मुंडा बेटी बचाओं अभियान बोहरा समाज ब्राह्राण समाज ब्लू व्हेल गेम भगोरिया पर्व भगोरिया मेला भगौरिया पर्व भजन संध्या भर्ती भागवत कथा भाजपा भारत निर्वाचन आयोग भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान भारतीय जीवन बीमा निगम भारतीय जैन संगठना भारतीय थल सेना भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा भावांतर योजना मध्यप्रदेश टूरिज्म अवार्ड मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग मनकामेश्वर महादेव मनरेगा मल्टीप्लेक्स सिनेमा महात्मा गांधी महाशिवरात्रि महिला आयोग महिला एवं बाल विकास विभाग माछलिया घाट मिशन इन्द्रधनुष मीजल्स रूबेला मुख्यमंत्री उत्कृष्टता पुरस्कार मुख्यमंत्री कन्यादान योजना मुख्यमंत्री कप मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान मुस्लिम समाज मुहर्रम मूवी रिव्यु मेघनगर मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता मैराथन दौड़ मॉक ड्रील मोड़ ब्राह्मण समाज मोदी मोहल्ला मोहनखेड़ा यातायात युवा उत्सव युवा दिवस युवा शक्ति संगठन यूनीसेफ योग योग शिविर रक्तदान रंगपुरा रंगोली रतलाम रंभापुर राजगढ़ राजगढ नाका राजनीति राजनेतिक राजपुत समाज राजवाडा चौक राज्यपाल राणापुर राम शरणम् झाबुआ रामशंकर चंचल रामा रायपुरिया राष्ट्रीय एकता दिवस राष्ट्रीय खेल दिवस राष्ट्रीय पोषण मिशन राष्ट्रीय बालरंग राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप राष्ट्रीय मानवाधिकार राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रेल्वे स्टेशन रैली रोग निदान रोजगार मेला रोटरी क्लब लक्ष्मीनगर विकास समिति लाडली शिक्षा पर्व लाॅकडाउन लॉक डाउन लोक सेवा केन्द्र लोकरंग लोकरंग शिविर वनवासी कल्याण परिषद वरदान नर्सिंग होम वर्ल्ड रिकॉर्ड वाटसएप विजय दिवस विद्युत प्रदाय विधायक विधायक शांतिलाल बिलवाल विश्व आदिवासी दिवस विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस विश्व विकलांग दिवस विश्व हिन्दू परिषद वेटलिफ्टिंग वेलेंटाईन डे वैश्य महासम्मेलन व्यापारी प्रीमियर लीग शरद पूर्णिमा शहीद सैनिक शारदा विद्या मंदिर शासकीय पाॅलिटेक्निक महाविद्यालय शासकीय महाविद्यालय झाबुआ शिक्षा शिवगंगा शिविर शौर्य दिवस श्रद्धांजलि सभा श्रावण सोमवार श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर सकल व्यापारी संघ संगीत सत्यसाई सेवा समिति सदभावना दौड संपादकीय सर्वब्राह्मण समाज साई मंदिर साज रंग झाबुआ सामाजिक सामूहिक सूर्य नमस्कार सारंगी सांसद सांस्कृतिक साहित्य सिंधी समाज सीपीसीटी परीक्षा सुर श्री सुशासन दिवस स्थापना दिवस स्वच्छ भारत मिशन स्वच्छता सर्वेक्षण स्वतंत्रता दिवस हज हजरत दीदार शाह वली हनुमान जयंती हरितालिका तीज हरियाली अमावस्या हस्तशिल्प हाथीपावा हाथीपावा महोत्सव हिन्दू नववर्ष होमगार्ड होर्डिग्स होली झाबुआ
Showing posts with label देवझिरी जैन तीर्थ. Show all posts

आचार्यश्री पूर्णिमा से 108 दिन की करेगें मौन आराधना 

झाबुआ। रविवार को पवित्र देवझिरी तीर्थ पर पूज्य आचार्य सुयश सूरिश्वरजी मसा एवं पूज्य सिद्धीरत्न विजय जी मसा का चातुर्मास के लिये मंगल प्रवेश हुआ । पूज्य आचार्यजी एवं मुनिजी को इन्दौर अहमदाबाद राजमार्ग से बेण्डबाजों के साथं मंगल कलश उठाये महिलाओं एवं श्रावकजनों ने जयघोष के साथ स्वागत किया तथा देवझिरी स्थित श्री आदिनाथ माणिभद्र मंदिर में उनका विधिविधान एवं शास्त्रोक्त मंत्रों के साथ स्वागत किया गया । आयोजन समिति के अध्यक्ष निर्मल मेहता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पूज्य आचार्य सुयशसूरिश्वर जी मसा ने चातुर्मास के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि देवझिरी वह पवित्र भूमि है जहां अभी तक के इतिहास में किसी भी जैन साधु महात्मा का चातुर्मास नही हुआ है । आगामी चार महिनों तक इस पवित्र भूमि पर प्रतिदिन ज्ञान गंगा का प्रवाह होगा । आचार्य श्री सुयश विजय जीे का कि पूण्य से अनुकुलता एवं पाप से प्रतिकूलता उत्पन्न होती है । 
     अनुकुलता होना ही पूण्य का होना प्रतिकुलता का होना पाप का उदय होता है । धन दौलत सभी भ्रम है। एक अरबनति को रात भर निन्द नही आती है और एक गरीब जमीन पर भी आराम से निंद लेता है। चातुर्मास में हम पूण्य कमाने का मौका मिला है। देवझिरी एक साधना भूमि है । उन्होने कहा कि निकटवर्ती गा्रम हडमतिया में जैन मंदिरों के अवशेष मिलना ही इस पूण्य भूमि का प्रमाण है । आचार्य सुयशसूरीश्वर ने श्रावको को संबोधित करते हुए कहा कि पूण्य के पांच प्रकार होते है, आवास पूण्य, भोजन पूण्य, जल पूण्य, पात्र पूझय एवं वस्त्र पूण्य । पांचों पूण्यों की विस्तार से व्याख्या करते हुए कहा कि भगवान श्री आदीनाथजी की छत्रछाया में यहां चातुर्माय का आयोजन भगवान माणिभद्रजी के सानिध्य में होना एक दुर्लभ अवसर है । उन्होने कहा कि समाज की व्यवस्था समय के साथ बदलती रही है। गुरू महाराज के आशीर्वाद से चातुर्माण के अवसर पर हम सभी में स्थिरता का भाव होना चाहिये । 
          आचार्य श्री ने आगे कहा कि चार महीने तक चौमासा के दौरान भगवान आदीनाथ ने तप किया तािा उन्हे आवास दान दिया था । अन्नदान, पानी दान,पात्र दान आदि का चातुर्मास में लाभ मिलना पूण्य का कार्य होता हे । उन्होने बताया कि देवझिरी तीर्थ स्थल पर आसरढ पूर्णिमा से उनके द्वारा 108 दिनों की तपस्या की जावेगी इस अवसर पर दीप प्रज्वलित होगा जो अखण्ड प्रकाश रहेगा । आचार्य सुयश सूरीश्वर जी ने कहा कि देवझिरी में उनका 44 वां चातुर्मास है । चातुर्मास में भावपूर्वक आराधना होना चाहिये । मानव जीवन दुर्लभ है इसलिये 84 लाख योनी के बाद हमे जो अवसर मिला है वह साधु सेवा में व्यतित करना चाहिये । उनहोने कहा कि हमारी जेसी प्रवृर्ति होती है वेसा ही हमे अगल जन्म मिलता है । मानव जीवन अमूल्य है इसलिये इसे खुला रखना जरूरी है तािा जीवन में सदभाव होना चाहिये । जैन दर्शन कहता है कि आदत से जुड गये तो आसक्ति हो जाती है। किसी के साथ स्थायी रूप् से जुडे ऐसे प्रयास नही होना चाहिये । आचार्यश्री ने कहा कि जीवन की उपलब्धियों को जोड लेना चाहिये । सदपुरूषो के जाने से विचार भी परिवर्तित होते हे । हमे जीवन में जो कुछ भी मिला है वह पूण्य से ही मिला है । पूण्य से कमाई गइ्र राशि के छः हिस्से करना चाहिये इसमें से एक भाग जहां वापस होने की गारंटी नही होती है अर्थाद सद उपयोग में खर्च करना चाहिये पूण्य के बीज बोने पर अंकुरित होने पर वे वटवृक्ष की तरह बनना ही है । पूज्य आचार्य सुयशसूरीश्वरजी ने बताया कि 24 जुलाइ्र पूर्णिमा से ज्ञान पंचमी तक 108 दिन की वे साधना देवझिरी स्थल पर करेगें । इसके लिये ट्रस्ट की ओर व्यापक तेयारिया की गई है । इस अवसर पर निर्मल मेहता, मनोहर भंडारी, जय भंडारी, बाबुलाल कोठारी, नितेश कोठारी, भल्ला कोठारी, विशाल कोठारी, प्रकराश कटारिया, विशाल कोठारी, रिंकू रूनवाल, सूर्या कांठी, महेन्द्र भाई मुंबई, नैनेस भाई दाहोद,जयन्तीलाल रानापुर, धर्मचन्द्र जी लिमडी,पोपट भाई मुंबई, राकेशभाई दाहोद, संजय मेहता रतलाम, जीतेन्द्र मालवी, सुनील कटकानी सहित बडी संख्या में श्रावक एवं श्राविकाओं ने चातुर्मास के प्रथम दिन का लाभ लिया । इस अवसर पर विधिकारक अनील हरड लिमडी द्वारा सफल संचालन किया गया ।

Jhabua News- देवझिरी तीर्थ पर ज्ञात इतिहास का प्रथम जैन चातर्मास का हुआ शुभारंभ

देवझिरी तीर्थ पर ज्ञात इतिहास का प्रथम जैन चातर्मास का हुआ शुभारंभ




और पड़े
शेयर

झाबुआ । आगामी 7 मई गुरूवार को वैशाखसुदी पूर्णिमा के अवसर पर देवझिरी जैन तीर्थ में आयोजित होने वाले अंजनशलाका कार्यक्रम को लेकर देवझिरी में पूज्य आचार्य श्री सुयशचन्द्रसूरिजी मसा का मंगलवार को एक दिवसीय आगमन हुआ। इस अवसर पर उपस्थित समाजजनों को संबोधित करते हुए पूज्य आचार्य श्री सुयशचन्द्रसूरिश्वरजी मसा ने कहा कि मनुष्य जीवन एक अमूल्य रत्न है, इसको सुखद बनाने के लिये सभी प्रकार की व्यवस्थायें अनुकुल होना आवश्यक है । भौतिक जीवन को आध्यात्मिक जीवन के साथ सामंजस्य बना कर ही जीवन को सुखद बनाया जासकता हैै । क्योकि मनुष्य की भूख दो प्रकार की होती है पहली शारीरिक भूख एवं दुसरी मानसिक भूख । शारीरिक भूख की पूर्ति भौतिक पदार्थो से होती है जबकि मानसिक भूख के लिये किसी अधिशक्ति याने आध्यात्मिकता से जुड कर ही किया जा सकता है। 
        उन्होने भगवान महावीर के 10 संदेश को प्रत्येक व्यक्ति को अंगीकार करने का आव्हान करते हुए कहा कि महावीर स्वामी अहिंसा के प्रतीक थे। उन्होंने जियो और जीने दो के संदेश को अपनाया। महावीर का कहना है कि अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है अतः हमें जियो और जीने दो के संदेश पर कायम रहना चाहिए। प्रत्येक आत्मा स्वयं में सर्वज्ञ और आनंदमय है। आनंद बाहर से नहीं आता। शांति और आत्मनियंत्रण ही सही मायने में अहिंसा है। हर जीवित प्राणी के प्रति दयाभाव ही अहिंसा है। घृणा से मनुष्य का विनाश होता है। सभी जीवित प्राणियों के प्रति सम्मान का भाव ही अहिंसा है। सभी मनुष्य अपने स्वयं के दोष की वजह से ही दुखी होते हैं और वे खुद अपनी गलती सुधारकर प्रसन्न हो सकते हैं। महावीर कहते हैं कि खुद पर विजय प्राप्त करना, लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है। आत्मा से परे कोई भी शत्रु नहीं है। असली शत्रु अपने भीतर रहते हैं। वे शत्रु हैं- लालच, द्वेष, क्रोध, घमंड और आसक्ति और नफरत। आत्मा अकेले आती है अकेले चली जाती है, न कोई उसका साथ देता है न कोई उसका मित्र बनता है। महावीर हमें स्वयं से लड़ने की प्रेरणा देते हैं। वे कहते हैं- स्वयं से लड़ो, बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना? जो स्वयं पर विजय प्राप्त कर लेगा उसे आनंद की प्राप्ति होगी। 
      पूज्य आचार्य सुयशचन्द्रसूरिजी के मार्गदर्शन में देवझिरी जैन तीर्थ के ट्रस्ट की बैठक में सर्वानुमति से यह निर्णय लिया गया है कि आगामी 7 मई गुरूवार लब्धि पूर्णिमा के पावन अवसर पर देवझिरी जेैन तीर्थ पर प्रथम तीर्थंकर श्री आदिनाथ भगवान की अंजन शलाका अर्थात प्राण प्रतिष्ठाका भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जावेगा। इसके लिये व्यापक तेैयारिया प्रारंभ की जा रही है। इस अवसर ट्रस्टीगण निर्मल मेहता, नयनेशभाई शाह दाहोद, सचिन कटारिया इन्दौर, बाबुलाल कोठारी झाबुआ, ललीत सखलेचा रानापुर, नीतिन कोठारी झाबुआ , मनोहर भंडारी, प्रकार कटारिया, रिंकू रूनवाल, अनील जैन, राकेश मेहता आदि समाजजनो द्वारा प्राण प्रतिष्ठा के महुर्त आदि पर चर्चा कर कार्यक्रमों को अन्तिम रूप दिया गया ।


और पड़े
शेयर

ट्रेंडिंग

[random][carousel1 autoplay]

प्रायोजित लिंक्स

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , पुर्व विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , पुर्व सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , पुर्व विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , पुर्व जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Asha News

{picture#YOUR_PROFILE_PICTURE_URL} YOUR_PROFILE_DESCRIPTION

संपर्क फॉर्म

आपका नाम

ईमेल *

सन्देश *

Powered by Blogger.