झाबुआ । जिला कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में आज कर्ज माफी और बिजली की कटोती एवं फसल समस्याओं से जूझ रहे प्रदेश के किसानों  की वर्तमान समस्याओं को लेकर पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं क्षे़त्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया के नेतृत्व में विधायक सुश्री कलावती भूरिया, विधायक वीरसिंह भूरिया, विधायक वालसिंह मेड़ा, पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा, जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष नन्दलाल मेड़, जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष हेमचन्द डामोर, रूपसिंह डामोर, युवा नेता डाॅ. विक्रांत भूरिया सहित जिले के ब्लाॅक अध्यक्षगण किसान प्रतिनिधिगण एवं कांग्रेसजनों की उपस्थिति में आज किसान रैली के रूप में कलेक्टर कार्यालय  पहंुचकर महामहिम राज्यपाल के नाम कलेक्टर रोहितसिंह को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन का वाचन युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ. विक्रांत ने किया । आज पूर्वाहन 11 बजे से ही  किसान जनप्रनिधिगण, कांग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्तागण स्थानीय बस स्टेंड पर एकत्रित हुए, वहां पर एक विशेष सभा का आयोजन भी किया गया। इस सभा को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय विधायक कांतिलाल भूरिया ने प्रदेश की भाजपा सरकार को आढ़े हाथों लेते हुए उन्हें किसान विरोधी करार दिया। 

      भूरिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पिछले चुनाव में किसानों के लिए जो वादे किये थे उसे पुरा करने में कांग्रेस सरकार ने तत्काल कदम उठाए थे। तथा प्रदेश के लाखों लोगों के दो लाख तक के कर्ज माफ कर दिए गए थे, कांग्रेस सरकार पूरी ईमानदारी से किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए अनेक योजनाएं क्रियान्वीत की थी लेकिन बीच में ही भाजपा ने कांगे्स के विधायकों को खरीद फरोख्त कर कांग्रेस सरकार को गिराने का काम किया। वर्तमान में समय पर बारिश ना होने के कारण किसानों की फसलों पर किट लगने पर किसानों की फसल बर्बाद हो गई, एक ओर जहां पर कोरोना महामारी के कारण जूझ रहा था वहीं बर्बाद फसलों में किसानों की कमर ही तोड़ दी है, कई किसानों को तो घर चलाना मुश्किल हो रहा है किन्तु भाजपा की गुन्गी, बहरी सरकार सोई हुई है, तथा किसानों को कोई राहत नहीं मिल पा रही है। कांग्रेस पार्टी ने हमेशा किसानों के हित में फैसले लिए तथा समय-समय पर कर्ज माफ किए है। जोबट विधायक सुश्री कलावती भूरिया ने इस अवसर कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश में बूरी तरह विफल हो गई है, न तो उन्हें प्रदेश की चिन्ता है और न ही किसानों की चिन्ता है, आज किसान बर्बाद फसल के कारण रोने को मजबूर है। किन्तु उसका पूरा ध्यान उपचुनाव में केन्द्रीत है। सुश्री कलावती भूरिया ने प्रदेश सरकार से किसानों को बर्बाद हुई फसल का सर्वे करवाकर तत्काल मुआवजा देने की मांगी की है। यदि मुआवजा नहंी दिया गया तो हम सड़कों पर आन्दोलन करने से भी नहीं डरेंगे । पेटलावद विधायक वालसिंह मेड़ा ने कहा कि मेरी विधानसभा में सोयाबीन, मक्का, टमाटर, कपास आदि की फसलें वर्षा की खेस के कारण किट लगने से बर्बाद हो गई है। उन्होंने सरकार से सर्वे कराने की मांग करते हुए कहा कि किसानों की बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा शिघ्र प्रदान करें। थांदला विधायक वीरसिंह भूरिया ने भी किसानों की न्यायाचित मांग को पूरा करने की मांग प्रदेश सरकार से की  है।   

      इस अवसर पर पूर्व विधायक जेवियर मेड़ा, जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष रूपसिंह डामोर, हेमचन्द डामोर, किसान कांग्रेस जिला अध्यक्ष नन्दलाल मेड़, युवा नेता एवं विधायक प्रतिनिधि डाॅ. विक्रांत भूरिया, संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल आदि ने संबोधित किया । कार्यक्रम का संचालन पूर्व जिला कांग्रेस सेवादल संगठक राजेश भटट् ने किया, एवं आभार ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष काना गुण्डिया ने माना । सभा के पश्चात किसान एवं कांग्रेसजन रैली के रूप में कोविड 19 के नियम के तहत सोशलडिस्टेसिंग का पालन करते हुए मास्क एवं मुंह ढककर तथा हाथांे को सेनेटाईज कर रैली के रूप में कलेक्टर कार्यालय पहंुचे । लोगों के हाथों में कांग्रेस का झण्डा एवं हाथों में बर्बाद हुई फसलों के नमूने लिये हुए थे। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शांति डामोर, उपाध्यक्ष चन्द्रवीरसिंह राठौर, नगरपालिका अध्यक्ष मन्नु बेन डोडियार, शहर कांग्रेस अध्यक्ष गौरव सक्सेना, जिला आई टी सेल अध्यक्ष हर्ष जैन,  कांग्रेस पदाधिकारी नटवरसिंह नायक, विनय भाबोर, विजय भाबोर, मानसिंह मेड़ा, रशीद कुरेशी, हेमेन्द्र कटारा,  सहित कांग्रेस पदाधिकारीगण उपस्थित थें। 

Jhabua News- जिले के पीड़ित  किसानों की समस्याओं को लेकर राज्यपाल के नाम रैली प्रदर्शन कर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन







और पड़े
शेयर