वायरल ऑडियो - छात्रों से अभ्रदता मामले में झाबुआ एसपी निलंबित

Jhabua SP suspended for misbehavior with students
झाबुआ। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान झाबुआ के एसपी अरविंद तिवारी को हटाने का ऐलान कर दिया। अचानक हुए इस ऐलान से प्रशासनिक गलियारों में हलचल मच गई हर कोई यह जानना चाहता था कि आखिर ऐसा हुआ क्या है,  उसके पीछे की वजह आपको इस खबर में बताएंगे. दरसल कल पॉलिटेक्निक कॉलेज झाबुआ के करीब 30 से 40 बच्चे देर रात को झाबुआ कोतवाली पहुंचे थे यहां उन्हें मांग की कि उनके साथ उनके बेच के सीनियर बच्चे बदसलूकी करते हैं मारपीट करते हैं, हमला करते हैं, शराब पीकर आते हैं उनके कमरों पर अतिक्रमण करने की कोशिश करते हैं. इसकी शिकायत करते हैं तो कोई कार्रवाई नहीं होती, उन्हें सुरक्षा दी जाए.
         लेकिन थानों पर तुरंत सुनवाई नहीं होती है, इन छात्रों के साथ भी यही हुआ और इनकी सुनवाई नहीं हुई परेशान छात्रों में से एक छात्र ने एसपी अरविंद तिवारी को फोन लगा दिया, मदद मांगने के लिए फोन लगाया गया था लेकिन मदद की बजाय एसपी साहब ने क्या बोला इस पूरी बातचीत का ये वायरल ऑडियो है हम आपको सुना रहे हैं कहीं भी बीप नहीं करेंगे इसे आप अश्लीलता की श्रेणी में ना माने बल्कि इस तरीके से समझिए कि कैसे बदलते वक्त के साथ भी पुलिस बदलने को तैयार नहीं है, चाहे वह पुलिस का सिपाही हो चाहे पुलिस का एसपी हो. आपको बता दें कि आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का झाबुआ जिले का भी दौरा है. पेटलावद में वह एक जनसभा करने वाले हैं तो स्वाभाविक सी बात है जिस जिले में मुख्यमंत्री जा रहे हैं उस जिले में मीडिया भी उनसे सवाल कर सकती थी. शायद इसीलिए इस मामले में असहजता की स्थिति से बचने के लिए सीएम द्वारा झाबुआ एसपी को तुरंत निलंबित किया है.

सुनिए पूरी बातचीत का वायरल ऑडियो  
jhabua sp vial audio- jhabua sp video- jhabua sp removed- Viral-Audio-Jhabua-SP-suspended-for-misbehavior-with-students-
वायरल ऑडियो
Jhabua SP Arvind Tiwari
remove add
repeat favorite volume_up
0:001:19 play_arrow



ऑडियो सुन के आपको भी लगा होगा कि बातचीत का लहजा निश्चित तौर पर बहुत असहज है, हालांकि पुलिस की भाषा इसी तरीके की रहती है. लेकिन अब सोशल मीडिया का जमाना है चीजे रिकॉर्ड में आने लगी है और रिकॉर्ड में आने लगी है तो सोशल  मीडिया पर वाइरल होने लगी है,  लेकिन पुलिस बदलना नहीं चाहती, नतीजा इस तरीके के प्रशासनिक फैसले लेने पड़ते हैं।
  
सीएम ने क्या कहा 
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पूरी घटना पर कहा की तत्कालीन झाबुआ एसपी से छात्रों ने कुछ मांग की थी मांग सुनने की बजाय एसपी द्वारा उनको अपशब्द बोले थे मैंने तत्काल जांच के आदेश दिए थे, अभी मेरे पास रिपोर्ट आ गई है जिसमे में यह स्पष्ट है की यह आवाज़  एसपी तत्कालीन झाबुआ की ही है. बच्चों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करना और उनकी मांगो को न मानने पर मेरे द्वारा झाबुआ एसपी को तुरंत निलंबित करने का आदेश दे दिया गया है।  
रहें हर खबर से अपडेट झाबुआ न्यूज़ के साथ